अच्छी शिक्षा क्या है? | what is a good education - naijankariindia

Latest

Search This Blog

Saturday, August 25, 2018

अच्छी शिक्षा क्या है? | what is a good education

अच्छी शिक्षा क्या है? ये एक छोटा सा सवाल है जो आजकल के माता-पिताओ को अध्याधिक परेशान करता है माँ-बाप कोई भी हो मॉर्डन हो या रूटिवादी अपने बच्चो को इस उम्मीद से स्कूल भेजते है ताकि हमारा बच्चा बडा होकर कुछ बने कुछ कर सके अपने लिए अपने परिवार के लिए अपने समाज के लिए लेकिन जब हम स्कूल और कॉलेजो मे छात्र के द्वारा ही छात्र की हत्यो और स्कूलो मे Teacher या छात्रो के द्वारा बल्तकारो की खबर सुनते है तो हमे अपने बच्चो के लिए चिन्ता होती है हमारे मन मे ये ही विचार आता है कही इस तरह कि खबरे हमारे बच्चे को पर्भावित ना करे


naijankariindia.blogspot.com
अच्छी शिक्षा क्या है?



एक तरफ एक ध्यान मे रखने वाली बात ये भी है कि हम स्कूलो कॉलेजो मे भेजकर अपने बच्चो को डॉक्टर, इनजिनिय और वकील तो बना रहे है लेकिन एक चरित्रवान व्यक्ति नही बना पा रहे जिसमे कुछ हद तक स्कूलो के अध्यापक और हम भी जिम्मेदार है क्योकि हमने कभी इस विषय मे  ध्यान ही नही दिया आज दनिया मे लगभग 4000-5000 धर्म है लेकिन फिर भी दिन वा दिन बल्तकारो ,अपहराणो, हत्याओ कि खबर बडती जा रही है अब जरा ध्यान दिजिए क्या दुनिया का कोई भी धर्म अपने अनुय्यो को बल्तकारो हत्याओ और अपहरणो का उपदेश देता होगा? इस का सरल सा जबाव है नही ! तो फिर क्या वजह है कि हमारे समाज मे ऐसे घिनोने अपराध बडते जा रहे है इसका भी सरल सा जबाव है हम अपने बच्चो को केवल स्कूली शिक्षा देते है लेकिन धर्मिक शिक्षा 0% देते है जिसके कारण हमारा बच्चा बडी ही आसानी से समाज मे फैली बुराईयो को बडी जल्दी अपने अन्दर समा लेता है ये काफी हद तक सही बात है कि धार्मिक शिक्षा हमारे बच्चो को समाज मे फैली बुराईयो से लडने मे मदद करती है । अगर हम इतिहास मे नजर डाले तो पाएगे कि पर्चीन लोगो के पास शिक्षा नही थी फिर भी उनका चारित्र इतना महान था जिसकी वजह से उन्होने पुरी दुनिया का मार्गदर्शन किया और महान व्यक्तित्व कहलाए जिसका वजह ये थी कि वो अपने बच्चो को शिक्षा नही दे पाते थे लेकिन धार्मिक शिक्षा जरूर देते जिसके कारण वो एक ऐसे समाज का निर्माण करने मे कामयाब रहे थे जहा माहिलाओ का सम्मान किया जाता था हत्या और बल्तकार ना करे बरावर थे हमारे कहने का मतलब ये नही है कि आप अपने बच्चो को केवल धार्मिक शिक्षा दे और दुनियावी शिक्षा से दूर रखे नही । बल्कि उन्हे दुनियावी शिक्षा के साथ-साथ धार्मिक शिक्षा भी दे ताकि हमारे बच्चे कामयाब इंसान बनने के साथ-साथ चारित्रवान भी बने चारित्रहीन व्यक्ति कितने भी उच्च शिक्षा प्रप्त कर ले कितने भी ऊचे पदो पर पहुच जाए लेकिन वो फिर भी समाज के लिए घातक साबित होगे बल्कि ऊचे पदो पर पहुच कर वो और भी घातक साबित होगे इसलिए हम लोगो को पेहल करनी चाहिए कि चाहिए कि स्कूलो मे दुनियावी शिक्षा के साथ-साथ धार्मिक शिक्षा भी दि जाए । हर धार्म मे कुछ ना कुछ अच्छा होता है जिसे अगर कोई व्यक्ति अपने जीवन मे उतार ले तो उसकी पर्गाती को कोई नही रोक सकता हम हमारे देश के स्कूलो कॉलेजो के अध्यापको और हमारे देश कि सरकार से निवेदन करते है कि स्कूलो मे भी कोई एक ऐसा विष्य शामिल करिए जिसमे सभी धर्मो की अच्छी बातो को शामिल किया जाए जैसे इस्लाम धर्म से कुरआन की अयाते और हदीसे हिन्दु धर्म से गीता, वेद पुराणो के कुछ अच्छे श्लोक ईसाइ धर्म से वाइवल की कुछ लीपीया इस तरह से हर धर्म के ग्रन्थो की कुछ अच्छी बातो को स्कूली शिक्षा मे शामिल किया जाए ताकि हमारे बच्चे कामयाब व्यक्ति बनने के साथ एक चारित्रवान भी बन सके और जब हमारे बच्चे दूसरी धर्मो की अच्छी बातो को जानेगे तो उनकी दूसरे धर्मो के पर्ति नफरत भी खत्म होती चाली जाएगी आप लोगे को स्कूलो मे सभी धर्मिक शिक्षा को शामिल
करने के लिए स्कूल के अध्यापको से आग्रेह करना चाहिए आप लोगो को अपनी एक  संस्था बनानी चाहिए जो धार्मिक शिक्षा को स्कूलो कॉलेजो मे शामिल करने के लिए काम करे अगर हम ने जल्दी ही इस विषय मे ध्यान नही दिया तो भविष्य मे हमारे बच्चे हम से पुछेगे कि "अच्छी शिक्षा क्या है? क्या हम जो अपने स्कूल कॉलेजो से शिक्षा प्राप्त कर रहे है वो अच्छी शिक्षा है और अगर वो अच्छी शिक्षा है तो फिर क्यो उसी शिक्षा को प्राप्त करने के बाद लोग अतंकी बन रहे है क्यो उसी शिक्षा को प्राप्त करने वाले हत्यारे अपहरणकारी और बल्तकारी बन रहे है ? और इस सवाल का हमारे पास कोई जबाव ना होगा



अगर आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आए तो इसे सोशल मिडिया पर जरूर शेयर करे और अगर आपका हमारी इस पोस्ट के लिए कोई सुझाव शिकायत हो ते कृपा Comment के द्वारा बताए और अगर आपका कोई Study से सम्बनधित सवाल है तो वो भी आप Comment के द्वारा पूछ सकते है हम अपनी अगली पोस्ट मे उसका जबाव जरूर देने की कोशिश करेगे

1 comment: