पढाई के लिए टाइम टेबल कैसे बनाए | how to make Study time

आज का हमारा टॉपिक है  पढाई के लिए टाइम टेबल कैसे बनाए  (Study ke liye time tebla kaise banaye ) या How to make study time tebal in क्योकि हम अक्सर देखते है कि हमारी क्लॉस मे कुछ ऐसे भी बच्चे होते है जो अपनी पढाई भी करते है और अपनी सोशल Life मे भी Active रहते है ये वो बच्चे होते है जो अपने अन्य कामो पर भी ध्यान देते है और अपनी पढाई को भी वाखुवी कर लेते है और  Exam के करीब ये बच्चे First भी आ जाते है ऐसा क्यू होता है? क्या आपने कभी सोचा अगर नही सोचा तो अब सोचना शुरू कर दिजिए क्योकि ये थोडी देर का सोचना ही आपको सफल बना सकता है आखिर ऐसा क्यो होता है कि वो बच्चे Topper बन जाते है और हम पढाई मे उनसे पिछडते चले जाते है इसका Simple सा Answer है उनका Time tebal जीसे वो अच्छी तरह Follow करते है जिसके कारण वो अपने अन्य कामो और पढाई दोने को समय दे पाते है जिसकी वजह से वो बिल्कुल तनाव मुक्त होकर अच्छी तरह पढ पाते है और Exam me top कर जाते है अगर आप भी अपनी पढाई मे मन लगाना चहाते है या Exam me top करना चहाते है तो इसके लिए सबसे पहले अपनी Study का Time tebel बनाईये जिससे आप अपनी पढाई पर अच्छी तरह ध्यान दे पाए । तो आपका ज्यादा समय ना लेते हुए हम अपनी आज कि पोस्ट Start करते है

naijankariindia.blogspot.com
पढाई के लिए टाइम टेबल कैसे बनाए( Study ke liye time tebal kaise banaye )

पढाई के लिए टाइम टेबल कैसे बनाए 

Study ke liye time tebal kaise banaye 

पढाई के लिए टाइम टेबल बनाने से पहले आप टाइम टेबल बनाने के फायदे और ना बनाने के नुकसनो के बारे मे जान लिजिए क्योकि हम जब तक किसी काम को नही करते है जबतक कि हमे उस काम  करने और ना करने के नुकसान और फायदे पता ना हो

टाइम टेबल ना बनाने के नुकसान

▪टाइम टेबल ना बनाने से आप कभी पढाई के लिए समय नही निकाल पाएगे

▪Time tebal ना बनाने से आप दूसरे कामो मे उलझे रहेगे जिसके कारण आप पढाई पर फोकस नही कर पाएगे

▪आप कभी समझ नही पाएगे की पढाई के लिए कौन-सा Time सही है

▪आपका पढाई मे मन नही लगेगा

▪आप Exam और बाकि अन्य किसी Test के लिए Study नही कर पाएगे

▪समय पर्बन्धन ना  करने के कारण आप अपनी पारिक्षा मे मन चहा रिजल्ट नही ला पाएगे

Time tebal बनाने के फायदे

▪आप अपनी सोशल Life और कॉलेज Life दोनो को मेनटेन कर पाएगे

▪ समय पर पढाई करने के करण आपको एक समय पर पढाई करने कि आदत पढ जाएगी जिसके कारण आपका पढाई मे मन लगना शुरू हो जाएगा

▪आप समय पर पढाई करने की वजह से पढाई की टेनशंन मे नही रहेगे

▪आपको अपने Importent और फालतू कामो का पता चल जाएगा

▪आपको समय कि अहमियत पता चलेगी

▪आप अपने कीमते समय को सही जगह लगाएगे

▪आप ऊपर बताएगे सभी नुकसानो से दूर रहेगे

तो ये कुछ फायदे और नुकसान थे जो आपको Time टेबल बनाने और ना बनाने से होगे तो अब जानते है कि कैसे अपनी पढाई के लिए Best टाइम टेबल बनाए

1.   समय की जरूरत को समझे

सबसे पहले आप खुद से सवाल पुछिए कि आप किस लिए टाइम टेबल बनाना चहाते है क्या आपने जरूरी कामो को पढाई के साथ नही रखना चहाते है या आप पढाई को पर्थमिक्ता देना चहाते है क्योकि ऐसा हमारे साथ अक्सर होता है कि हम जब भी पढने के लिए बैढते है तो हमारे माता-पिता या भाई बहन कोई जरूरी काम बता देते है फिर हम उनसे कह देते है "मे अभी पढ रहा/रही हू जिसके बाद वो मान भी जाते है लेकिन क्या ये सही है क्या आप पढाई के लिए अपने जरूरी कामो को Avoid कर रहे है तो ऐसा बिल्कुल मत किजिए आप ऐसा Time tebal बनाईये जिसमे आपके जरूरी कामो को भी निपटाया जा सके
पढाई के अलावा भी हमारी जिन्दगी मे अन्य कुछ जरूरी काम होते है जैसे- खाना,नहाना,सोना अगर आप इन कामो को नही करेगे या देर से करेगे तो इससे आपके स्वास्थ्य पर भी बहुत बुरा पर्भाव पढ सकता है ।

2.  अपने जरूरी कामो की सूची बना ले 

अपने Importent कामो की List बना ले जैसे कि मेने अभी ऊपर बताया कि हमारी जिन्दगी मे पढाई के अलावा भी कुछ जरूरी कर्य होते है जिन्हे हम छोड नही सकते हर व्यक्ति के परिस्थिती के हिसाब से अलग-अलग कर्य होते है इसलिए सबसे पहले अपनी जरूरी कामो कि List बना ले जैसे आप कितने बजे School,कॉलेज जाते , कितने बजे School से आते है कितने समय मे खाना खाते है , कितने बजे ट्यूशन जाते, कितने समय मे अपने अन्य जरूरी कामो निपटाते है फिर जितना भी समय बचे वो पढाई के लिए सबसे बेहतर है

   
3.   Study के लिए खुद को दिमागी तौर पर तैयार रखे


बिना तनाव के पढना सबसे अच्छा माना जाता है क्योकि जब आप तनाव मे होते है तो अपनी पढाई पर फोकस नही कर पाते है इसलिए अपना Time टेबल इस अनुसार बनाए कि जब आप किसी तनाव मे ना हो उदाहरण के लिए कोई काम ऐसा भी होता है जिसे करने के बाद हमे गुस्सा आता है या टेनशन होती है ऐसे मे अगर आप इस तरह अपना टाइम टेबल बनाए जिसमे तनाव से भरे काम करने के बाद आपको पढाई करनी पढे तो आपका टाइम टेबल बनाना बेकार है कभी भी रात को लम्बे समय तक पढने के बजाए सुबह जल्दी पढने की अदात बनाए क्योकि इस समय आप एकदम Fresh और तनाव मुक्त होते है ।

4.   Time tebal बनाते समय इन Points को 
ध्यान मे रखे

1. ये बहुत ही ध्यान मे रखने वाली बात है कि लोग आसानी से Study के लिए Time tebal तो बना लेते है लेकिन उसे ढीक से या बिल्कुल भी Follow नही कर पाते है कभी भी ऐसा टाइम टेबल बनाने कि कोशिश ना करे जिसे आप Follow ना कर सके अपने Importent कामो को पहले और कम Importent कामो को बाद मे करे फिर इसी के अनुसार अपना टाइम टेबल बनाए

2.रात को पढने की एक Limit रखे

अगर आप सोच रहे है कि अपने सभी काम दिन मे खत्म कर लूगा और रात को देर तक जाग के पढाई करूगा तो आप बिल्कुल बेकार टाइम टेबल बना रहे है क्योकि इस पर्कार Study करने से आपकी नीदं पुरी नही हो पाएगी  जिससे आपकी सेहत पर बुरा पर्भाव पडेगा और आप पुरे दिन थका हुआ मेहसूस करेगे और आप अपने अन्य कामो को भी नही कर पाएगे यानि आपने जिन कामो के लिए देर रात तर पढने का प्लान बनाया वही काम आप नही कर पाएगे इसलिए Over night पढने के बजाए आप सुबह मे जल्दी उठ कर पढने की कोशिश करे इससे आप पर किसी भी पर्कार का Load नही पडेगा और सुबह जल्दी उठने से आप तरो ताजा महसूस भी करेगे और अगर आपको रात को पढाई करनी ही पढे तो उसे एक समय सीमा मे रख कर पढने की कोशिश करे

3.Study के लिए कोई एक ऐसी जगह चुने जहा अच्छी हवा और रोशनी आती हो और शोर-शोराबा बिल्कुल ना हो ताकि आप आराम से वहा पढाई कर सके उस जगह कोई भी पढाई से ध्यान भटकाने वाली चीजे ना हो उदाहरण के लिए मोबाइल । बरना आप पढाई करने के बजाए उसमे ही अपना समय बर्वाद कर बैठेगे जिससे आपका Time टेबल खराब हो जाएगा और लेट कर पढने के बजाए टेबल कुर्सी पर बैढ कर पढे इससे आपको पढाई करते वक्त नीदं नही आएगी


4.टाइम Tebal बनाने के बाद अगर हमारे पास कम समय बचता है तो हम उस समय को केवल एक ही Subject के ऊपर लगाते है उदाहरण के लिए हमने अपना टाइम टेबल सेट कर लिया है और हमने उसी के अनुसार अपने सारे काम निपटा लिए है और अब हमारे पास Study के लिए केवल 2 घटें रह गए तो हम उस समय केवल उसी Subject को पढते है जो हमे अच्छा लगता है या जिसमे हम निपुण हो अगर इस तरह आप Time tebal बना के पढने कि कोशिश कर रहे है तो खबरदार ! क्योकि इस तरह आप अपने अच्छे Subject मे और अच्छे और कमजोर Subject मे और कमजोर होते चले जाएगे । ऐसी स्थिती मे आप आधे-आधे घटें कर के चार Subject बना सकते है या एक दिन अपना मनपसंद Subject पढ लिजिए और दूसरे दिन उस Subject को जिसमे आप कमजोर है इस तरह आप अपने बचे हुए समय को अच्छी तरह मेनीज कर पाएगे

5.स्कूलो,कॉलेजो मे पढाई कि व्यवास्था घंटो मे चलती है जैसे पहले घटें मे Math के टीचर आएगे और दूसरे घंटे मे English के टीचर लेकिन कभी-कभी टीचर किसी वजह से अपने घंटे पर आ नही पाते है ऐसे अपने दोस्तो से हसी मजाक करने के वजाए उस घंटे मे अपने पिछले पढाए Subjects को दोहराए ताकि आप समय का सही उपयोग कर पाए और अपने Time टेवल के लिए समय बचा पाए

6.हर लेसन को रट लेना ही काफी  नही होता है क्योकि हम किसी Subject को रट के कुछ समय के लिए तो याद रख सकते है लेकिन बाद मे भूल जाते है इसलिए बेहतर होगा आप अपने Subjects , लेसन को रटने के बजाए समझने कि कोशिश आप लेसन्स को समझने के लिए अपमे दोस्तो और टीचरो की मदद ले सकते है





तो दोस्तो मुझे उम्मीद है कि आपको हमारी ये  पोस्ट पढाई के लिए टाइम टेबल कैसे बनाए ( How to make study time tebal ) समझ गए होगे । और अगर आपका टाइम Tebal बनाने से सम्बन्धित कोई सवाल है तो आप हमे कमेटं के द्वारा पूछ सकते है हम आपके सवाल का जवाब देने की पुरी कोशिश करेगे और कृपा कर के इस पोस्ट को अपने दोस्तो मे जरूर Share करे ताकि वो भी अपनी पढाई के लिए Time tebal बना सके और हमारा इस ब्लॉग से ज्यादा से ज्यादा लोगो तक Help करने का मकसद पूरा हो सके । पोस्ट पढने के लिए आप सभी प्रिय दोस्तो का धन्यवाद

Post a Comment

0 Comments